Breaking News

आशुतोष टंडन ने दिया अपने 6 महीने का हिसाब, इंजीनियरिंग कॉलेजों को मिलेगा तोहफा

0 comments, 2017-10-13, 284 views

उत्तर प्रदेश में अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय के अंतर्गत आने वाले राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेजों की गुणवत्ता सुधारने को लेकर राज्य सरकार काफी फिक्रमंद है। उप्र में पॉलिटेक्निक कॉलेजों में प्लेसमेंट सेल की व्यवस्था की जाएगी ताकि छात्रों को आसानी से रोजगार मुहैया कराया जा सके।
 
राज्य के प्राविधिक एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने शुक्रवार को एनेक्सी में पत्रकारों से बातचीत के दौरान इसकी जानकारी दी। टंडन पिछले छह महीने के कामकाज का ब्यौरा प्रस्तुत कर रहे थे।
 
टंडन ने बताया कि प्रदेश के 18 मंडलों में हर मंडल में राजकीय महिला पॉलिटेक्निक कॉलेजों की स्थापना की जाएगी।
 
उन्होंने कहा कि तीन मंडलों बस्ती, आगरा एवं अलीगढ में राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज की स्थापना की स्वीकृति प्रदान कर दी गयी।
 
टंडन ने बताया, ‘‘प्रदेश के विभिन्न इंजीनियरिंग संस्थाओं की गुणवत्ता सुधार के लिये 200 करोड रूपये की धनराशि स्वीकृत की गयी है, इससे आगामी तीन वर्षों के भीतर अवस्थापना सुविधाओं एवं प्रयोगशाला के उपकरणों एवं रिसर्च को बढावा दिया जाएगा। शिक्षकों की कमी पूरी करने की प्रक्रिया जारी है, 6700 आवेदन आये हैं। नवम्बर के अन्त तक इससे शिक्षकों की कमी पूरी हो जायेगी।
 
प्राविधिक मंत्री ने कहा कि प्रदेश में संचालित 600 से अधिक निजी इंजीनियरिंग संस्थानों की फीस को लेकर भी एक अभियान चलाया गया है। इस दौरान इन संस्थानों में फीस निर्धारण को लेकर ऐसी कार्यवाही 8 वर्ष के बाद सम्पन्न की गयी है। अभी तक 215 प्रत्यावेदनों का निस्तारण किया गया है। 
 
 
 
मंत्री ने बताया कि पिछले 20 जून को प्रधानमंत्री के हाथों एकेटीयू की अपनी इमारत वाले परिसर का लोकार्पण करादिया गया था। 17 वर्षों से विश्वविद्यालय के पास अपना भवन नहीं था।
 
इसके अलावा डिग्री और डिप्लोमा संस्थानों में प्रवेश की प्रक्रिया को सरल, सुदृढ़ और पारदर्शी बनाने का काम किया गया है। प्रदेश के सभी राजकीय इंजीनियरिंग कालेज में वाई-फाई की सुविधा निःशुल्क दी जारही है।
 
इस वर्ष प्रदेश के सभी 570 पालीटेक्निक कालेज में दीक्षान्त समारोहों का आयोजन किया गया, इसमे विधायक, सांसद मंत्रीगणों के अलावा कुछ स्थानों पर न्यायाधीश ने भी सहभागिता की। विभाग में गुणवत्ता सुधार के लगातार प्रयास किये जारहे हैं हम कुछ अन्य सुधार पुरे कर केन्द्र की रैंकिंग के लिए आवेदन करेंगे।
 
विभाग के सभी कार्य ई-टेंडरिंग के माध्यम से कराये जा रहे हैं। विभाग द्वारा रोजगार मेले लगाकर 4500 युवकों को रोजगार दिया गया।


UPPatrika
योगेश मिश्रा
यूपी पत्रिका डेस्क
और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

पोल   करें

AJAX Poll Using jQuery and PHP

X

Loading...

X