Breaking News

तनाव मुक्त होकर उत्साह से बोर्ड परीक्षा देखकर अच्छे अंक लाएं परीक्षार्थी

0 comments, 2020-02-16, 223275 views

गोण्डा:  यूपी बोर्ड हाईस्कूल-इंटर की परीक्षाएं 18 फरवरी से शुरू होने वाली है। इस समय हर घर का माहौल बदला हुआ है। परीक्षा में अच्छे नंबर पाने का दबाव छात्र-छात्राओं के चेहरे पर साफ देखा जा सकता है। बच्चों के साथ ही अभिभावक भी एग्जाम फोबिया के शिकार हो गए हैं। अभिभावक सुबह से शाम तक बच्चों को नसीहत देते नहीं थक रहे हैं। सबसे अधिक दबाव में 10वीं के बच्चे हैं क्योंकि यह उनकी पहली बोर्ड परीक्षा है।विद्यालय के साहित्यकार शिक्षक पंडित चंद्र प्रकाश शुक्ला ने बच्चों को सलाह दी है कि जो पढ़ रहे हैं, उससे जुड़े अधिक से अधिक प्रश्न स्वयं बनाएं। खुद सोचें कि उस टॉपिक पर क्या, कितना और कितने तरीके से पूछा जा सकता है। जो पढ़ा है उसे रिवाइज करें और फिर आगे की पढ़ाई करें।

किसी टॉपिक को पढ़ें तो समझने की कोशिश करें कि क्या मुख्य बात है। किसी विषय को अपने शब्दों में लिखने की कोशिश करें। क्योंकि किताबी भाषा बहुत लंबे समय तक याद नहीं रहती।खुद से लिखने से आत्मविश्वास बढ़ता है और परीक्षा के दौरान कभी भी तनाव महसूस नहीं होता। बोर्ड परीक्षा के लिए हाई स्कूल इंटरमीडिएट छात्र छात्राओं को दिए गए संदेश में मुख्यमंत्री योगी बोले- मन लगा कर परीक्षा दीजिए।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बच्चों से कहा है कि वह बिना किसी तनाव के मन लगा कर परीक्षा दें।सीबीएसई की परीक्षाएं शुरू होने से पहले मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर परीक्षा देने जा रहे बच्चों की हौसला अफजाई कर संदेश दिया। उन्होंने कहा- प्यारे विद्यार्थियों, युवा साथियों आज से आप सभी की सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं शुरू हो रहीं हैं।

बिना किसी तनाव के या दबाव को महसूस किए, एकाग्र होकर एवं मन लगा कर परीक्षा दीजिए। मेहनत और लगन का कोई विकल्प नहीं है और इसका परिणाम सदैव सुखद होता है। आखिरी में मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी शुभकामनाएं उनके साथ हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक अनूप श्रीवास्तव ने बताया कि जिले में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षा को नकल विहीन ढंग से सम्पन्न कराने के लिए कुुल 122 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। बताया कि इस वर्ष बोर्ड परीक्षा में कुल 83871 परीक्षार्थी शामिल होेंगे, जिनमें हाईस्कूूल में 45457 तथा इन्टरमीडिएट में 38414 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। परीक्षा को सुुचितापूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिए जिले को 22 सेक्टर तथा 05 जोनों में विभाजित कर मजिस्ट्रेटों की ड्यूटी लगाई गई है।


UPPatrika
G K Srivastav

और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

पोल   करें

AJAX Poll Using jQuery and PHP

X

Loading...