Breaking News

ओवररेंटिग का विरोध किया तो किराना स्टोर मालिक ने गुर्गों संग मिलकर पत्रकार को पीटा

सम्बंधित लोकप्रिय ख़बरें

0 comments, 2020-04-07, 197856 views

स्टोर मालिक पर पत्रकार की मोबाइल छीनने व उसे छेड़खानी के मुकदमे मे फंसाने की धमकी देने का आरोप धानेपुर कस्बे में हुई वारदात, स्टोर मालिक के खिलाफ मारपीट व एससी एसटी का केस दर्ज गोंडा। लाकडाउन के दौरान धानेपुर कस्बे में एक किराना स्टोर मालिक की ओवररेंटिग का विरोध करना एक स्थानीय पत्रकार को भारी पड़ गया। दुकानदार ने अपने गुर्गों के साथ मिलकर न सिर्फ पत्रकार के साथ मारपीट की बल्कि उसका मोबाइल भी छीन लिया। पीड़ित पत्रकार ने इसकी शिकायत थाने पर की तो अब दुकानदार व उसकी पत्नी पत्रकार को छेड़खानी के मुकदमे में फंसाने की धमकी दे रहे हैं। थाने के एक दरोगा पर दुकानदार के इस दुस्साहस को शह देने का आरोप है। हालांकि धानेपुर पुलिस ने पीड़ित पत्रकार की तहरीर पर आरोपी दुकानदार के खिलाफ मारपीट, धमकी व एससी एसटी एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर लिया है। जिले में लाकडाउन के दौरान किराना स्टोर संचालक बेखौफ हैं और खाद्य सामग्री जैसे दाल, तेल, मसाला आदि को निर्धारित रेट से मंहगे दामों पर बेचकर जमकर मुनाफाखोरी कर रहे हैं। ओवररेंटिग रोकने के लिए जिला प्रशासन स्टिंग आपरेशन कर तीन दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई भी कर चुका है लेकिन सख्ती के बावजूद इन दुकानदारों की मनमानी थमने का नाम नहीं ले रही है। ऐसा ही एक मामला जिले के धानेपुर कस्बे में सामने आया है जहां खाद्य सामग्री को निर्धारित रेट से मंहगे दामों पर बेचने का विरोध करने पर एक स्थानीय पत्रकार के साथ दुकानदार व उसके गुर्गों ने मारपीट की। धानेपुर थाना क्षेत्र के पूरेसिधारी गांव के रहने वाले सुनील सोनकर राजधानी लखनऊ से प्रकाशित एक हिंदी दैनिक समाचार पत्र के पत्रकार हैं और स्थानीय स्तर पर समाचार संप्रेषण का कार्य करते हैं। सुनील के मुताबिक तीन दिन पहले वह धानेपुर कस्बा स्थित संतोष किराना स्टोर पर दाल व तेल की खरीदने के लिए गए थे। सुनील का कहना है कि जब उन्होने दाल का भाव पूछा तो दुकानदार ने उसकी कीमत ज्यादा बताई। जब उन्होने सरकारी रेट तय हवाला देकर इस ओवररेंटिग का विरोध किया तो दुकानदार संतोष आपे से बाहर हो गया और उसने अपने गुर्गों के संग मिलकर सुनील की पिटाई कर दी। आरोप है कि संतोष व उसके गुर्गों ने सुनील को मोबाइल फोन भी छीन लिया। पीड़ित पत्रकार ने इसकी शिकायत थाने पर की तो पुलिस रिपोर्ट लिखने के बजाय मामले को रफा दफा कराने मे जुट गई। इस बीच आरोपी दुकानदार से पीड़ित पत्रकार पर दबाव बनाने, के लिए हरसंभव प्रयास किया। बात न बनती देख दुकानदार व उसकी पत्नी ने पत्रकार को छेड़खानी को मुकदमे मे फंसाने की धमकी दे डाली। थाने के एक दरोगा पर दुकानदार को शह देने का आरोप है। वहीं पुलिस की कार्यशैली से आहत पत्रकारों ने शनिवार को डीआईजी देवी पाटन मंडल डा राकेश सिंह से मुलाकात की और पूरी घटना बताई। इसके बाद डीआईजी ने धानेपुर पुलिस को रिपोर्ट दर्ज करने के आदेश दिए। डीआईजी के निर्देश पर शनिवार को पत्रकार सुनील की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी दुकानदार संतोष के खिलाफ मारपीट, धमकी व एससी एसटी की रिपोर्ट दर्ज की है। स्थानीय पत्रकारों ने जताया आक्रोश पत्रकार सुनील सोनकर को साथ हुई मारपीट की घटना और पुलिस के रवैये को लेकर स्थानीय पत्रकारों में आक्रोश है। रविवार को पत्रकारों ने बैठक कर इस मामले पर रणनीति तैयार की और इस मुद्दे पर अपनी विरोध प्रकट किया। पत्रकारों का कहना है सुनील पर दबाव बनाने के लिए छेड़खानी का मुकदमा दर्ज कराने के धमकी दी जा रही है। यदि पुलिस दबाव में इस तरह की उत्पीड़न वाली कार्रवाई करती है तो आरपार की लड़ाई लड़ी जाएगी। इस दौरान स्थानीय पत्रकार धर्मप्रकाश शुक्ल, सुशील श्रीवास्तव, प्रेम नरायण मिश्रा, रमेश पांडेय, उमापति गुप्ता,विनीत श्रीवास्तव व राजेंद्र कश्यप मौजूद रहे।


UPPatrika
पवन श्रीवास्तव
संपादक
और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

सम्बंधित लोकप्रिय ख़बरें

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

पोल   करें

AJAX Poll Using jQuery and PHP

X

Loading...