Breaking News

गोंडा - महिला अस्पताल खुद बीमार , मण्डलायुक्त ने दिए कार्यवाही के संकेत

0 comments, 2017-03-14, 1768 views

गोंडा - जिला महिला अस्पताल की हालात इतनी ख़राब हो चुकी है की अगर कोई तीमारदार अपने मरीज़ को देखने जाए तो पूरी चांस होती है की उसको भी हॉस्पिटल में एडमिट होना पड़े । ऐसा मामला तब खुला जब नगर के एक अधिवक्ता अपने किसी परिचित को देखने शहर के महिला अस्पताल में गए
अगर आप प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान का सरेआम मखौल उडता देखना चाहते है तो आप गोंडा के महिला अस्पताल में एक बार जरूर जाए लेकिन ध्यान रखे आपभी बीमार हो सकते है
। इस अस्पताल की  स्थिति ये है कि अस्पताल परिसर मे लैट्रिन टैंक का मल व पानी चिकित्सा अधीक्षक के कार्यालय के सामने बह रहा है लेकिन किसी अधिकारी को दिखाई नहीं दे रहा ।
जबकि सुचना पट पर लिखा नंबर गलत एवम लखनऊ का कोड लिखा गया है , वही कोई भी डाटा उपलब्ध नहीं कराया गया है जिससे मरीजो को परेशानियों के अलावा कुछ नही मिलता ,आखिर अधिकारी अपने कर्त्तव्य से क्यों भागते है क्यों नही जनता की परवाह करते है ये भी वरिष्ठ अधिकारियो को ध्यान देने की बात है
इस बाबत अधिवक्ता सुरेंद्र मिश्र ने मंडलायुक्त को लिखित शिकायत की है और दोषियों पर कार्यवाही करने की मांग की है , शिकायतकर्ता का कहना है की अस्पताल मे सम्बंधित अधिकारियों के नं. भी गलत लिखे हैं जिसकी शिकायत भी अधिवक्ता ने अनुज गणेश नाथ मिश्र के साथ मिलकर मंडलायुक्त महोदय से किया है। इस बाबत सीएमओ से बात करने की कौशिश की गयी लेकिन बात न होने पर मंडलायुक्त देवीपाटन से बात हुई जिसपर मामला संज्ञान में न होने पर यूपी पत्रिका द्वारा सारा प्रकरण ईमेल द्वारा मंडलायुक्त को भेजा गया जिसे देखने के बाद खुद मंडलायुक्त ने यूपी पत्रिका को फोन कर गोंडा सीएमओ एवम कर्मचारियों पर जांच कर कार्यवाही करने की बात कही

ऐसे जाबांज़ को यूपी पत्रिका सलूट करता है जो समाज के लिए आवाज उठाता हो ...



UPPatrika
पवन कुमार

और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

पोल   करें

AJAX Poll Using jQuery and PHP

X

Loading...

X