Breaking News

दलित की बेटी की शादी में बजा बैंड तो नीच काम करने लगे ऊँची जाति वाले

सम्बंधित लोकप्रिय ख़बरें

0 comments, 2017-04-30, 542 views

एक तरफ जहाँ हमारा देश तरक्की के बड़े आयामों को छू रहा है. वहीँ हमारे समाज का एक वर्ग अभी भी ऐसा है जिसकी सोच पिछड़ी हुई है. जोकि ऊंच-नीच और जाति-पाति जैसी कुरीतियों के सहारे जी रहा है. एक ऐसा ही मामला मध्यप्रदेश के आगर मालवा जिले से सामने आया है।
दरअसल यहाँ के 
गांव के ही एक दलित, 45 वर्षीय चंदेर मेघवाल ने, अपनी बेटी, ममता की शादी के लिए बैंड पार्टी की व्यवस्था की थी. जोकि गाँव के नियमों के विरुद्ध है. जानकारी के मुताबिक़ गांव के नियमों के अनुसार दलित समाज के लोग, बारात का स्वागत सिर्फ़ ढोल से कर सकते हैं, सवर्णों द्वारा समाज से बहिष्कृत किए जाने की चेतावनी के बावजूद चंदेर ने नियमों का उल्लंघन किया. सारी घटना की सूचना चंदेर ने पुलिस को दी थी, इसलिए ममता की शादी भी शांतिपूर्वक हो गई.
लेकिन गुस्से में आग बबूला हो रहे सवर्णों ने बदला लेने के लिए 
दलितों द्वारा प्रयोग किए जाने वाले कुएं में मिट्टी का तेल डाल दिया. बारातियों के स्वागत का खामियाज़ा सारे दलित परिवारों को भुगतना पड़ा. दलितों ने पीने के पानी की व्यवस्था करने के लिए कालीसिंध नदी के तट पर ही एक गड्ढा खोदा और उस गड्ढे के पानी को पीने लगे. बिना किसी से शिकायत किए, दलितों ने कुएं का दूषित पानी भी पंप से निकाल लिया.

UPPatrika
पवन कुमार

और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

सम्बंधित लोकप्रिय ख़बरें

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

पोल   करें

AJAX Poll Using jQuery and PHP

X

Loading...

X