Breaking News

माया ने डिफ्यूज किया नसीमुद्दीन ऑडियो बम हर आरोप का दिया खुल कर जवाब

0 comments, 2017-05-12, 1050 views

बहुजन समाज की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने आज दोपहर बाद मीडिया में फोड़े गए आरोपों के "ऑडियो बम" पूरी तरह डिफ्यूज कर दिया। उन्होंने आज ही दोपहर बाद नसीमुद्दीन द्वारा बुलाई गयी प्रेससवार्ता के दौरान लगाए गए हर आरोप का खुल कर जवाब दिया। नसीमुद्दीन द्वारा सुनायी गयी ऑडियो क्लिपों में कही गयी हर बात को उन्होंने अपने जवाब में क्लीयर किया। उन्होंने कहा कि जब आप सभी मीडिया के लोगों को नसीमुद्दीन यह ऑडियो सूना रहा था तो मैंने इसे पूरी तरह सुना। नसीमुद्दीन दुवारा सुनाये गए ऑडियो में थोड़ी काट छांट कर वही बातें थीं जो मैंने उससे कहीं वही बातें थीं। उन्होंने खुलकर कहा कि हाँ मैंने नसीमुद्दीन को पैसे के लिए ही पार्टी से निकाला और इसलिए निकाला क्योंकि यह पैसा पार्टी के गरीब और मजलूम कार्यकर्ताओं का पैसा था। जिसको नसीमुद्दीन सिद्दीकी दबाकर बैठे थे। कई बार कहने के बावजूद उन्होने न तो यह पैसा दिया न हिसाब ही, यहां तक कि जिन लोगों के नाम पर नसीमुद्दीन बहाना बना रहे थे, उनसे भी नहीं मिलवा पाए।  
उपरोक्त बातें मायावती ने आज शाम अपने घर पर बुलाई गयी प्रेसवार्ता के दौरान कहीं, उन्होंने कहा कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी एक फोन टेप करने वाला ब्लैकमेलर है। ऐसा पहले भी पार्टी के लोगों द्वारा मुझे बताया गया परन्तु इसका असली पता मुझे आज लगा जब मैंने देखा कि जो व्यक्ति साजिशन अपनी पार्टी जिसमे वह शामिल है उसकी राष्ट्रीय अध्यक्ष का फोन टेप कर सकता है वह जरूर दूसरों को भी फोन टेप करके वसूली करता रहा होगा।  
दोपहर बाद नसीमुद्दीन द्वारा की गयी प्रेससवार्ता पर  बसपा सुप्रीमो मायावती ने खुलकर पलटवार क‌िया। लखनऊ में ही अपने आवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने कहा, मैंने इस चुनाव का रिजल्ट आने के बाद अपनी जिम्मेदारी को निभाते हुए मैंने सोचा क‌ि ईवीएम के साथ, पार्टी के जिन वरिष्ठ लोगों को मैंने जिम्मेदारी दी थी तो सोचा उनको लेकर भी समीक्षा कर लूं। मैंने नसीमुद्दीन को पश्चिमी यूपी में कई साल से लगाया हुआ था कि ये मुस्ल‌िम होने के नाते अपने समाज को बीएसपी में जोड़ेंगे। लेकिन चुनाव का नतीजा आने के बाद कुछ साथी लोगों ने कहा कि बहन जी हम आपसे बात करना चाहते हैं। जब वे लोग हमसे मिले तो उन्होंने कहा क‌ि बहन जी जिनको आपने हमारे ऊपर बैठाया है इनको अगर आप अलग नहीं करेंगी तो पार्टी पीछे चली जाएगी। लोगों ने बताया क‌ि नसीमुद्दीन बहुत बड़ा टेपिंग ब्लैकमेलर है, वह धंधा करता है और पैसे कमाता है। ये टेप के जर‌िए लोगों से खूब उगाही करता रहा। मुझे लगा क‌ि हमारे लोग ऐसी बातें मुझे क्यों बोल रहे हैं। आज मुझे पता चला क‌ि ये लोग ऐसे क्यों बोलते थे। मायावती ने बताया कि मैंने नसीमुद्दीन से पार्टी सदस्यता (मेम्बरशिप) सामग्री का हिसाब-किताब मांगा था लेकिन वह उन्होंने नहीं दिया। मायवती ने नसीमुद्दीन को महासचिव पद से हटाये जाने पर कहा कि यूपी चुनाव में सही जिम्मेदारी न‌ निभाने के कारण मैंने उन्हें पहले यूपी से हटाया। उन्होंने नसीमुद्दीन द्वारा मीडिया में सुनाए गए टेप के बारे में कहा कि इसमें सिर्फ अपने मतलब की बातें सुनाई गई हैं। इसमें काट-छांट की गई हैं। मैं ये सब सुनकर आ रही हूं। आप सब जानते हैं क‌ि मैं मेंबरशिप की किताबों के ल‌िए कार्यकर्ताओं से पैसे खुले तौर पर मांगती हूं। इसी से पार्टी की गतिविधियां चलती हैं। नसीमुद्दीन को निकालने की वजह  ये थी क‌ि मेंबरशिप का आधा पैसा उसने जमा किया आधा खा गए। लोगों ने कहा वो पैसा दे चुके हैं। वो ठीक से हिसाब-किताब नहीं दे रहे थे। मैं पार्टी का पैसा खाने नहीं दूंगी क्योंक‌ि ये गरीबों का पैसा है। दूसरा पश्चिमी यूपी के लोगों ने ये बताया क‌ि बीएसपी की सरकार बनेगी कई महकमे मिलेंगे फिर हम काम दिला ‌देंगे।और भी कारण थे जिनमें पार्टी में अनुशासनहीनता थी। कई लोगों ने कहा था क‌ि हमें नसीमुद्दीन नहीं चाह‌िए। जिम्मेदारी पूरी न करने पर मैंने नसीमुद्दीन को हटाया। उन्होंने बीएसपी की मुहिम को नुकसान पहुंचाया। कई बार बुलाने पर ये नहीं आए क्योंक‌ि दाल में काला था। नसीम बार-बार मेरे भाई के बारे में थर्ड क्लास थे फोर्थ क्लास थे कह देते हैं उन्हें पता होना चाह‌िए क‌ि अंबानी का बैकग्राउंड क्या है। नसीमुद्दीन ने मुस्लिमों के ल‌िए जो भाषा बोली वो मैं इस्तेमाल नहीं कर सकती। मुझे पता है मुस्ल‌िम समाज के लोग नसीमुद्दीन को माफ नहीं करेंगे। 

UPPatrika
पवन कुमार

और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

पोल   करें

AJAX Poll Using jQuery and PHP

X

Loading...

X