Breaking News

तो यह थे शाह को असहज करने वाले सात सवाल

0 comments, 2017-07-31, 306 views

सवाल :- आपने तीन दिन बैठक ली है. सब कुछ गिना दिया आपने लेकिन तीन महीने से प्रदेश की क़ानून व्यवस्था को लेकर चर्चा चल रही है। आपने कोई दिशा निर्देश दिए हैं? जबाब :- दिशा निर्देश देने की ज़रूरत नहीं है, सरकार क़ानून व्यवस्था को लेकर बहुत अच्छे से आगे बढ़ रही है। मगर जिस प्रकार से यूपी के अंदर प्रशासन का राजनीतिकरण हुआ है, उसे सुधारने में थोड़ा समय लगेगा। मैं प्रदेश की जनता को आश्वस्त करना चाहता हूं कि अन्य राज्यों की तरह यूपी में भी क़ानून का ही राज होगा। सवाल :- . जिन्होंने एमएलसी की कुर्सी छोड़कर कुर्बानी दी है (ताकि वहां बीजेपी के नेता फ़िट हो सकें), आप उन्हें रिटर्न गिफ़्ट क्या देंगे? और ये जो रस्ते का माल सस्ते में आप उठा रहे हैं, उससे आपका 'पार्टी विद डिफ़रेंस' का नारा कितना प्रभावित हो रहा है। जबाब :- आपका जो सवाल है ना, रिटर्न गिफ्ट का, आप ढूंढते रह जाना। ये हमारी पार्टी की डिक्शनरी में नहीं होता है। (अमित शाह ने दूसरे सवाल का जवाब नहीं दिया) सवाल :- . आप जहां जहां जा रहे हैं, वहां भगवाकरण हो रहा है। ये हो रहा है कि अमित शाह जहां जा रहे हैं वहां पार्टियां टूट रही हैं। जबाब :- एक मिनट. मैं केरल जाकर आया, क्या टूटा। मैं तेलंगाना जाकर आया, क्या टूटा। मैं ओडिशा जाकर आया, हिमाचल, जम्मू कश्मीर जाकर आया, क्या टूटा। मैं दलित के यहां गया, वो भी हमारा कार्यकर्ता है। मैं कल सोनू यादव के यहां गया, वो भी कार्यकर्ता है। इसमें ज़्यादा राजनीतिक गणित मत लगाइए। सवाल :- . योगी सरकार की नीति और नीयत पर किसी को शक नहीं है। लेकिन आपके कार्यकर्ता, विधायक और सांसद तीन महीने के कार्यकाल में असंतोष ज़ाहिर कर रहे हैं। लखनऊ से लेकर दिल्ली तक शिकायतें कर रहे हैं? जबाब :- ठीक है. चुनाव आते आते तक सब ठीक हो जाएगा। सवाल :- .2014 के चुनाव से पहले आपने राम मंदिर बनाएंगे का वादा किया था, आपकी सरकार आई। अब उत्तर प्रदेश में भी आपकी सरकार है। क्या ये मुद्दा 2019 तक बना रहेगा? जबाब :- जब से विवादित ढांचा गिरा, तब से भाजपा के चुनावी घोषणापत्र में लिखा है कि हम क़ानून तरीके से या संवाद से राम मंदिर बनाएंगे। हमारे स्टैंड में कोई बदल कभी नहीं हुआ. योगी जी ने भी कहा है। हम नहीं बना सकते भैया कमेटी।

UPPatrika
पवन कुमार
स्वत्रन्त्र पत्रकार
और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

पोल   करें

AJAX Poll Using jQuery and PHP

X

Loading...

X