Breaking News

समय के हिसाब से सब कुछ बदल रहा है, लेकिन नहीं बदला तो सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों की स्थिति

0 comments, 2017-08-22, 234 views

फतेहपुर। अक्सर आप सभी लोगों ने बदलते समय के बारे में सुना होगा, देखा होगा और यही नहीं महसूस भी किया होगा बदलते समय का, कि समय के हिसाब से धीरे धीरे सब कुछ बदलता रहता है। यही नहीं केंद्र की सरकार हो या फिर राज्य की सरकार, 500 रुपये का नोट हो या फिर 1000 रुपये का नोट हो या फिर 2000 रुपये की नयी नोट हो। इतना ही नहीं सरकारी कर्मचारियों की तनख्वाह में भी सरकार समय समय पर इजाफा करती रहती है। लेकिन नहीं बदली तो सरकारी सरकारी स्कूलों में पढने वाले बच्चों की स्थिति। आज से 25 साल पहले भी यहाँ के पढ़ने वाले बच्चें जमीनों पर टाट पट्टी बिछा कर बच्चें पढ़ाई करते थे औए आज भी सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चें जमीनों पर टाट पट्टी बिछा कर अपनी पढ़ाई कर रहे है। जहाँ एक ओर टेक्नोलॉजी का दौर बताया जा रहा है तो वहीं दूसरी ओर जमीनों पर टाट पट्टी बिछा कर सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की स्थिति से ही यह अंदाज़ा लगाया जा सकता हा कि हमारा देश कितनी तेजी के साथ टेक्नोलॉजी की तरफ अग्रसर हो रहा है। पहले यहाँ के पढ़ने वाले बच्चें खाकी ड्रेस कोड में स्कूल आते थे। लेकिन जब से प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी और योगी आदित्यनाथ सीएम बने तो उन्होंने सरकारी स्कूलों में पढने वाले बच्चों का ड्रेस कोड ही बदल दिया। बदलते समय को सभी लोग पल पल महसूस करते है। पहले जब कोई व्यक्ति अपना व अपने परिवार की जीविका चलाने के लिए विदेशों में काम करने जाता था तब उसको एक पत्र भेजने में महीनों लग जाते थे और पत्र पाने में भी इतना ही समय लग जाता था। लेकिन आज सेकण्डों में ही अपने परिजनों से बात हो जाती है। हालांकि जब सब कुछ समय के हिसाब से धीरे धीरे बदल रहा है तो फिर आज प्राथमिक विद्यालयों की स्थिति क्यों दिन प्रतिदिन खराब होती जा रही है। अरबों रुपये स्कूलों में खर्च हो जाते है। लेकिन सरकारी स्कूलों में आज भी वही स्थिति है। जो आज से 25 साल पहले थी। पहले भी बच्चें जमीनों पर टाट पट्टी बिछा कर पढ़ाई करते थे और आज भी जमीनों पर टाट पट्टी बिछा कर यहाँ के बच्चें अपनी पढ़ाई कर रहे है। इसी से ही यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि हमारा देश कितना बदल रहा है। हालांकि यह भी प्रदेश सरकार के लिए चुनौती का विषय बना हुआ है। अब देखना यह है कि सरकार इस मामले पर कितना खरा उतर रही है। यह तो आने वाला समय ही बताएगा।
 *यूपी पत्रिका के लिए फतेहपुर जिला संवाददाता कन्हैया पटेल के साथ खागा तहसील संवाददाता प्रदीप कुमार की रिपोर्ट*

UPPatrika
कन्हैया लाल पटेल
Reporter
और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

पोल   करें

AJAX Poll Using jQuery and PHP

X

Loading...