Breaking News

क्या था मिसाइल मैन डॉ. कलाम का' विजन 2020, जानिए उनके 10 प्रेरक विचार

सम्बंधित लोकप्रिय ख़बरें

0 comments, 2018-10-15, 200408 views

अच्युत द्विवेदी

एक ऐसा व्यक्ति जो बचपन में पेपर बांट कर अपने परिवार का गुजारा करता था. जिसके अंदर कुछ कर गुजरने का  हौंसला था. जो देश के सर्वोच्च पद पर बैठा और  जिसे दुनिया मिसाइल मैन के नाम से जानती है. उसने आज  के ही दिन 15 सितम्बर 1931 को इस धरती पर जन्म लिया और पूरे विश्व में भारत का नाम ऊंचा किया. जी हां, मैं बात कर रहा हूं भारत रत्न डॉ. अब्दुल कलाम का जिनका आज जन्मदिन हैं. 
 
अब्दुल कलाम का पूरा नाम अबुल पाकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम था. उन्हें जनता के राष्ट्रपति और मिसाइल मैन के नाम से जाना जाता है. वह भारतीय गणतंत्र के ग्यारहवें निर्वाचित राष्ट्रपति थे. वह जाने माने माने वैज्ञानिक और इंजीनियर थे. इन्होंने मुख्य रूप से एक वैज्ञानिक और विज्ञान के व्यवस्थापक के रूप में चार दशकों तक रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और  भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन(इसरो) संभाला व भारत के नागरिक अंतरिक्ष कार्यक्रम और सैन्य मिसाइल के विकास के प्रयासों में भी शामिल रहे.

यूं तो अब्दुल कलाम राजनीतिक क्षेत्र के व्यक्ति नहीं थे लेकिन राष्ट्रवादी सोच और राष्ट्रपति बनने के बाद भारत की कल्याण संबंधी नीतियों के कारण इन्हें कुछ हद तक राजनीतिक दृष्टि से सम्पन्न माना जा सकता है. इन्होंने अपनी पुस्तक इंडिया 2020:  अ विजन फॉर न्यू मिलेनियम में अपना दृष्टिकोण स्पष्ट किया है. यह किताब उन्होंने अपने राष्ट्रपति के कार्यकाल के पहले लिखी थीय  वह भारत को  अंतरिक्ष के क्षेत्र में दुनिया का सिरमौर राष्ट्र बनते देखना चाहते थे और इसके लिए इनके पास एक कार्य योजना भी थी.  परमाणु हथियारों के क्षेत्र में यह भारत को सुपर पॉवर बनाने की बात सोचते रहे थे. साथ ही वह विज्ञान के अन्य क्षेत्रों में भी तकनीकी विकास चाहते थे.

डॉ. कलाम का कहना था कि 'सॉफ़्टवेयर' का क्षेत्र सभी वर्जनाओं से मुक्त होना चाहिए ताकि अधिकाधिक लोग इसकी उपयोगिता से लाभांवित हो सकें. ऐसे में सूचना तकनीक का तीव्र गति से विकास हो सकेगा. 
18 जुलाई 2002 को डॉ. कलाम भारत के ग्यारहवें राष्ट्रपति चुने गए.  27 जुलाई 2015 की शाम अब्दुल कलाम भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलांग  में 'रहने योग्य ग्रह' पर एक व्याख्यान दे रहे थे. तभी  उन्हें दिल का दौरा पड़ा और वह  बेहोश हो कर गिर पड़े.  लगभग 6:30 बजे गंभीर हालत में इन्हें बेथानी अस्पताल में आईसीयू में ले जाया गया और दो घंटे के बाद इनकी मृत्यु की पुष्टि कर दी गई.

डॉ. कलाम के 10 अनमोल विचार किसी की भी जिंदगी को बदल सकते हैं: 

1- 
सपना वो नहीं है जो आप नींद में देखे, सपने वो है जो आपको नींद ही नहीं आने दे.

2-.मैं यह बहुत गर्वोक्ति पूर्वक तो नहीं कह सकता कि मेरा जीवन किसी के लिये आदर्श बन सकता है; लेकिन जिस तरह मेरी नियति ने आकार ग्रहण किया उससे किसी ऐसे गरीब बच्चे को सांत्वना अवश्य मिलेगी जो किसी छोटी सी जगह पर सुविधाहीन सामजिक दशाओं में रह रहा हो. शायद यह ऐसे बच्चों को उनके पिछड़ेपन और निराशा की भावनाओं से विमुक्त होने में अवश्य सहायता करे.

3- एक अच्छी पुस्तक हजार दोस्तों के बराबर होती है, जबकि एक अच्छा दोस्त एक लाइब्रेरी  के बराबर होता है.

4- सबसे उत्तम कार्य क्या होता है? किसी इंसान के दिल को खुश करना, किसी भूखे को खाना देना, जरूरतमंद की मदद करना, किसी दुखियारे का दुख हल्का करना और किसी घायल की सेवा करना...

5- 2000 वर्षों के इतिहास में भारत पर 600 वर्षों तक अन्य लोगों ने शासन किया है। यदि आप विकास चाहते हैं तो देश में शांति की स्थिति होना आवश्यक है और शांति की स्थापना शक्ति से होती है। इसी कारण प्रक्षेपास्त्रों को विकसित किया गया ताकि देश शक्ति सम्पन्न हो.

6-जीवन में कठिनाइयां हमे बर्बाद करने के लिए नहीं आती हैं, बल्कि यह हमारी छुपे हुए सामर्थ्य और शक्तियों को बाहर निकलने में हमारी मदद करती है. कठिनाइयों को यह जान लेने दो की आप उससे भी ज्यादा कठिन हो.

7-
देश का सबसे अच्छा दिमाग, क्लास रूम की आखिरी बेंचो पर मिल सकता है
8-
आसमान की ओर देखो हम अकेले नहीं हैं, जो लोग सपने देखते हैं और कठिन मेहनत करते हैं, पूरा ब्राह्मांड इनके साथ होता है.

9-
जीवन में पहली सफलता के बाद रूकें नहीं, क्योंकि यदि आप दूसरे प्रयास में असफल हो गये, तो लोग यही कहेंगे कि आपकी पहली सफलता भाग्य की वजह से मिली.
10- सभी चिड़ियां बारिश में छाया की तलाश करती हैं, परंतु गरूड़ उसकी परवाह नहीं करता, क्योंकि वह बादलों के ऊपर उड़ता है.




UPPatrika
UPPatrika Team

और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

अब तक की बड़ी खबरें