Breaking News

जन्मदिन विशेष: आज भी कायम है 'ड्रीम गर्ल' का जलवा, 14 साल की उम्र मे की फिल्मी कैरियर की शुरुआत

0 comments, 2018-10-16, 175968 views

मथुरा से लोकसभा सांसद और बॉलीवुड की 'ड्रीम गर्ल' हेमा मालिनी का आज जन्म दिन है. वह  मंगलवार को अपना 70 वां जन्‍मदिन मना रही हैं. इस उम्र में भी उनका जादू और करिश्मा बरकरार है. हेमा मालिनी का जन्म 16 अक्‍टूबर 1948 को त‍मिलनाडु के आमनकुंडी में एक तमिल परिवार में हुआ था. वह  अपने माता पिता की तीसरी संतान थीं. उनकी मां जया लक्ष्‍मी चक्रवर्ती प्रोड्यूसर थीं.  हेमा मालिनी की शुरुआती पढ़ाई चेन्नई में हुई.  इतिहास उनका प्रिय विषय था लेकिन वह अपनी स्कूल की पढ़ाई भी पूरी नहीं कर सकीं क्योंकि उन्हें लगातार फ़िल्मों के ऑफर मिलने लगे थे. हेमा ने अपने करियर की शुरुआत महज 14 साल की उम्र में की.

हेमा मालिनी की पहली तमिल फ़िल्म ''ईथु साथ्‍यम'' थी.  इसमें और तेलुगु फिल्‍म 'पांडव वनवासन' में हेमा ने एक नर्तकी का किरदार किया था. उनकी पहली हिंदी फ़िल्म 'सपनों का सौदागर' थी जिसमें वो राजकपूर की हीरोइन बनी थीं.  उस वक़्त 20 साल की हेमा राजकपूर से उम्र में 24 साल छोटी थीं. राजकपूर ने तब कहा था- ‘एक दिन यह लड़की सिनेमा की बहुत बड़ी स्टार बनेगी.‘

'जॉनी मेरा नाम' और ''सीता और गीता'' जैसी फिल्‍मों में दमदार अभिनय करके उन्‍होंने सालों तक दर्शकों के दिलों पर राज किया है. आज फिल्मों से अलग सामाजिक और राजनीतिक क्षेत्र में भी उनकी एक अलग पहचान है और वह वर्तमान में उत्‍तर प्रदेश के मथुरा से सांसद भी हैं. उन्हें वर्ष 2000 पद्मश्री से सम्मानित किया गया.

 हेमा कांजीवरम्‌ साड़ियां, चमेली के गजरे और ढेर सारी ज्वेलरी बहुत पसंद हैं.  हेमा साल 2007 में नेत्रदान कर चुकी हैं.  उन्होंने जनता से अपील की थी कि- "हमें हर साल 2 लाख लोगों के लिए आंखें चाहिए जबकि हमें लगभग 30 हज़ार आंखें ही दान में मिल रही हैं. ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसमें सक्रिय होना चाहिए."  हेमा की बायोग्राफी 'बियॉन्ड द ड्रीम गर्ल' भी आ चुकी है. हेमा की बायोग्राफी को एक प्रसिद्ध मैगजीन के पूर्व एडिटर और प्रोड्यूसर राम कमल मुखर्जी ने लिखा है.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हेमा की इस आधिकारिक जीवनी के लिए प्रस्तावना के तौर पर बहुत संक्षिप्त टिप्‍पणी लिखी हैं.

अभिनेत्री के साथ एक बेहतरीन डांसर

हेमा डांस की कई विधाओं जैसे भरतनाट्यम, कुचिपुड़ी और ओडिसी में उन्‍हें महारत हासिल है, उन्होंने देश-विदेश में कई स्टेज शो पेश किए हैं. हेमा की बतौर निर्देशक पहली फ़िल्म 'दिल आशना है' थी, जिसमें उन्होंने शाहरूख खान को डायरेक्ट किया था. वो 'मेरी सहेली' और 'न्‍यु वुमन' जैसी मैगजीन की एडीटर भी हैं.

धर्मेन्द्र के अलावा जीतेंद्र और संजीव कुमार भी थे हेमा के दीवाने

अपनी बायोग्राफी में हेमा ने बताया है कि धर्मेंद्र के अलावा जीतेंद्र और संजीव कुमार भी उन्‍हें बहुत पसंद करते थे और उनसे शादी करना चाहते थे. पर उन्‍हें धर्मेन्‍द्र से प्‍यार था. पहले से शादीशुदा धर्मेंद्र ने कई तरकीब लगाकर उनसे 1980 में शादी कर ली. दोनों ने शादी के लिए अपना धर्म परिवर्तन भी कर लिया था. 1970 के दशक में धर्मेंद्र और हेमा किसी भी फ़िल्म को हिट कराने की गारंटी माने जाते थे.  धर्मेंद्र-हेमा की जोड़ी ने बॉलीवुड को कई यादगार फ़िल्में दी हैं. दोनों ने करीब 27 फ़िल्मों में साथ काम किया और इनमें से 16 फ़िल्में सुपर हिट रही हैं.

हेमा मालिनी की राजनीतिक पारी साल 1999 में शुरू हुई जब उन्होंने पहली बार भारतीय जनता पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करना शुरू किया। हेमा मालिनी ने छोटे पर्दे पर धारावाहिक ''जय माता की'', कामिनी दामिनी में अभिनय किया और 'नुपूर' और 'मोहिनी' जैसे शोज का निर्माण और निर्देशन किया.

हेमा मालिनी सन्‌ 1972 में 'सीता और गीता' में किये गये किरदार व सहज अभिनय सोहरत के बुलंदियों पर पहुंची. 'प्रेम नगर, अमीर-गरीब' (1974), 'सन्यासी, धर्मात्मा, खुशबू और प्रतिज्ञा जैसी फिल्मों (1975) में प्रदर्शित हुये. अपने फिल्‍मी करियर में हेमा मालिनी ने अमिताभ, राजेश खन्ना, जितेंद्र, संजीव कुमार के साथ-साथ और भी कई अभिनेताओं के साथ काम किया. जितेंद्र हेमा के हमउम्र थे. साल 1975 की सुपरहिट  फिल्म 'शोले' में अपनी अल्हड़ अंदाज और संवादों के कारण हेमा मालिनी लोगों के जुबान पर चढ़ गईं. आज भी सिने प्रेमी उस अंदाज और संवाद की चर्चा करते हैं.




UPPatrika
UPPatrika Team

और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

पोल   करें

AJAX Poll Using jQuery and PHP

X

Loading...