आखिर मुलायम सिंह यादव चाहते क्या हैं......

0 comments, 2018-10-31, 317720 views

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक मुलायम सिंह यादव की राजनीति करने की शैली से इन दिनों राजनीतिक पंडित भी चकित हैं.  मुलायम सिंह यादव मंलवार को दोपहर में छोटे भाई शिवपाल सिंह यादव के ‘समाजवादी प्रगतिशील पार्टी के कार्यालय पहुंचकर कार्यकर्ताओं से पार्टी को मजबूत बनाने का आह्वान किया. मगर जब वह वहां से निकलकर  शाम को समाजवादी पार्टी के दफ्तर पहुंचे तो वहां भी उन्होंने यही काम किया. कार्यकर्ताओं को  संगठन को मजबूत बनाने के टिप्स दिए. दोनों ही जगह उन्होंने महिलाओं के सम्मान की नसीहत भी दी.

मुलायम ने शिवपाल के दफ्तर में भी कार्यकर्ताओं से पार्टी की नीतियों को लेकर जनता के बीच जाने को कहा और फिर उन्होंने समाजवादी पार्टी के दफ्तर में भी यही आाह्वान किया. मुलायम के कभी शिवपाल तो कभी अखिलेश के साथ खड़े होने से राजनीतिक पंडित भी दुविधा में पड़ गए हैं. उनके लिए भी भी मुलायम के सियासी चाल को समझ पाना काफी मुश्किल हो गया है. शिवपाल यादव ने मुलायम सिंह को समाजवादी प्रगतिशील पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का ऐलान किया जिसे वह न तो स्वीकार कर पाए और न ही मना कर पाए. वह कभी बेटे की तरफ झुकते हैं तो कभी भाई की तरफ. इससे लोगों में संदेह बना रहता है कि आखिर वह हैं किसकी तरफ.

पहलवान से बने राजनेता

मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवम्बर 1939 को इटावा जिले के सैफई गाँव में मूर्ति देवी व सुधर सिंह यादव के किसान परिवार में हुआ था. वहअपने पाँच भाई-बहनों में रतनसिंह यादव से छोटे व अभयराम सिंह यादव, शिवपाल सिंह यादव, रामगोपाल सिंह यादव और कमला देवी से बड़े हैं.  पिता सुधर सिंह यादव उन्हें पहलवान बनाना चाहते थे किन्तु पहलवानी में अपने राजनीतिक गुरु नत्थूसिंह को मैनपुरी में आयोजित एक कुश्ती-प्रतियोगिता में प्रभावित करने के पश्चात उन्होंने नत्थूसिंह के परम्परागत विधान सभा क्षेत्र जसवन्त नगर से अपना राजनीतिक सफर शुरू किया. बता दें कि राजनीति में आने से पूर्व मुलायम सिंह यादव आगरा विश्वविद्यालय से एमए  किया. इन्होंने कुछ दिनों तक इन्टर कालेज में अध्यापन कार्य भी कर चुके हैं.  मुलायम सिंह यादव ने1992 में समाजवादी पार्टी बनाई. वह तीन बार क्रमशः 5 दिसम्बर 1989 से 24 जनवरी 1991 तक, 5 दिसम्बर 1993 से 3 जून 1996 तक और 29 अगस्त 2003 से 11 मई 2007 तक यूपी के मुख्य मन्त्री रहे. इसके अतिरिक्त वे केन्द्र सरकार में रक्षा मन्त्री भी रह चुके हैं. उत्तर प्रदेश में यादव समाज के सबसे बड़े नेता के रूप में मुलायम सिंह की पहचान है.




UPPatrika
UPPatrika Team

और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

अब तक की बड़ी खबरें