हरियाणा सरकार को झटका, हाईकोर्ट ने जाट आन्दोलन के 407 मुकदमे वापस लेने पर लगाई रोक

सम्बंधित लोकप्रिय ख़बरें

0 comments, 2018-08-30, 215072 views

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार को हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है. पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान व्यापक पैमाने में हुई तोड़फोड़, हिंसा और आगजनी से जुड़े 407 एफआईआर को वापस लिए जाने पर रोक लगा दी है.  इसके साथ ही सभी ट्रायल कोर्ट को भी आदेश दे दिए गए हैं कि जिन केसों में दर्ज एफआईआर को वापस लिए जाने की अर्जी दी गई है, उन पर सुनवाई न की जाए. 

कोर्ट में सुनवाई के बाद जब हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हमें हाई कोर्ट के फैसले का पालन करना होगा. मामले में जो भी कोर्ट ने आदेश दिए हैं उसी अनुरुप आगे की कार्रवाई होगी.

 बुधवार को इस मामले में हाईकोर्ट ने करीब 2 घंटे तक चली बहस के बाद साफ कर दिया है कि जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान के सभी मामलों को इश्यू फ्रेम कर चार हिस्सों में बांट कर सुनवाई की जाएगी. इनमें पहला मामला आंदोलन के दौरान तोड़फोड़ का शिकार बनी उस मूनक कनाल से जुड़ा है जिसकी जांच सीबीआई को सौंपी जा चुकी है. दूसरा मामला कथित मुरथल गैंग रेप का है, तीसरा मामला आंदोलन के दौरान हुई हिंसा-तोड़फोड़ और आगजनी का और चौथा मामवा दर्ज की गई एफआईआर वापस लेने और कुछ अन्य में एफआईआर पर कैंसिलेशन रिपोर्ट दायर किए जाने से संबंधित है. 




UPPatrika
UPPatrika Team

और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

अब तक की बड़ी खबरें