Breaking News

पीएम नरेन्द्र मोदी आज काशी में मनाएंगे अपना 68वां जन्मदिन, सीएम से पीएम बनने तक ऐसा रहा सफर

सम्बंधित लोकप्रिय ख़बरें

0 comments, 2018-09-17, 157638 views

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 17 सितम्बर को 68वां जन्मदिन है.  पीएम मोदी इस बार अपना जन्मदिन अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी  में मनाएंगे. वह सोमवार को वाराणसी पहुंचेंगे. उनका पूरा नाम नरेन्द्र दामोदर दास मोदी है. अपने चौदहवें दौरे पर पीएम लोकार्पण और शिलान्यास के जरिए अपने काशी  की जनता को 557.40 करोड़ रुपये की सौगात देंगे.  इनमें 486.21 करोड़ के 10 लोकार्पण और 71.18 करोड़ रुपये के तीन शिलान्यास शामिल हैं.  पीएम के स्वागत के लिए राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी वाराणसी पहुंचेंगे.  

18 सितंबर को प्रधानमंत्री मोदी बीएचयू के एंफीथियेटर ग्राउंड में जनसभा करेंगे और इससे पहले आईपीडीएस, दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना, नागेपुर ग्राम पेयजल योजना, अटल इंक्यूबेशन सेंटर का लोकार्पण करेंगे. कुंभकारी, शहर उद्योग और खादी व सोलर से जुड़े करीगरों को मशीन भी आवंटित करेंगे. पीएम मोदी के जन्मदिन के मौके पर एक नजर डालते हैं उनके गुजरात के मुख्यमंत्री से देश के प्रधानमंत्री बनने तक के सफर पर:

गुजरात के वडनगर में 17 सितम्बर 1950 को जन्मे मोदी को बचपन से ही कुछ अलग करने चाहते थे. नरेंद्र मोदी का शुरुआती जीवन संघर्षों से भरा रहा था.  केवल 17 साल की आयु में उन्होंने घर छोड़ दिया और हिमालय की वादियों में  खुद की तलाश में पहुंचे. वे अपने पिता के साथ स्टेशन पर  चाय बेचने का काम करते थे.  20 वर्ष की उम्र में वे आरएसएस के नियमित सदस्य बन गए थे. भारत के प्रधानमंत्री बनने से पहले नरेंद्र मोदी तीन बार गुजरात के मुख्यमंत्री (2001-2014) रह चुके हैं. दिन के 24 घंटे में से नरेंद्र मोदी 18 घंटे तक काम करते हैं. मोदी पूर्ण रुप से शाकाहारी हैं. वह समय के काफी पाबंद है. अगर वो दिल्ली में होते हैं तो सुबह 9.30 बजे ऑफिस पहुंच जाते हैं.

मोदी ने अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत 1975 में इमरजेंसी के दौरान की जब उन्हें गुजरात 'लोक संघर्ष समिति' का महासचिव नियुक्त किया गया था. 2001 से 2014 तक नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री भी रहे. 2014 में वे वाराणसी से सांसद चुने गए. वह पहले ऐसे प्रधानमंत्री थे जिनका जन्म देश को आजादी मिलने के बाद हुआ है.

एक ओर, पीएम मोदी राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हिन्दू राष्ट्रवाद की धारणा और 2002 में हुए गुजरात दंगों में अपनी भूमिका को लेकर अक्सर विवादों में रहे हैं..वहीं दूसरी ओर, इन बातों को दरकिनार करें तो महान वक्ता होने के साथ-साथ वह एक नेकदिल व्यक्ति भी हैं. मोदी को चाहने वालों में युवाओं और बच्चों की सबसे अधिक संख्या है.

मोदी के प्रधानमंत्री कार्यकाल के दौरान करीब 100 नई लोक कल्याणकारी योजनाओं पर काम किया गया. जैसे जनधन योजना, मेक इन इंडिया, प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना, अटल पेंशन योजना, डिजिटल इंडिया मिशन आदि. प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन के तहत पूरे देश में 2 करोड़ टॉयलेट बनाने का लक्ष्य तय किया गया है. इस विषय पर बॉलीवुड में एक फिल्म भी बन चुकी है.

Achyut Dwivedi

UPPatrika
UPPatrika Team

और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

अब तक की बड़ी खबरें