Truecaller की इस खासियत के बारे में जानकर खुश हो जाएंगे आप

सम्बंधित लोकप्रिय ख़बरें

0 comments, 2018-09-28, 306722 views

आप में से ज़्यादातर लोग Truecaller के बारे में जानते होंगे? Truecaller ऐप मुख्य तौर पर आपके मोबाइल पर कॉल कर रहे शख्स की पहचान करता है. यानि कि अगर आपको किसी अनजान नंबर से कॉल आता है तो यह ऐप बताता है कि कॉल करने वाला कौन है. इस तरह से हम में से ज्यादातर यूज़र टेलीमार्केटिंग या स्पैम कॉल से बच जाते हैं. ट्रूकॉलर अब सिर्फ कॉलर आइडेंटिफिकेशन ऐप नहीं रहा. 

आपके मन में भी यही सवाल होगा कि Truecaller  पर कॉल करने वाले शख्स की पहचान कैसे होती है. अगर कॉन्टेक्ट कार्ड ब्लू रंग का है तो कॉलर सही है. वहीं, लाल रंग का कॉन्टेक्ट कार्ड मिलने पर आपको पहले ही कॉल के गैर-ज़रूरी होने का संदेश मिल जाएगा. दरअसल, Truecaller कॉलर की पहचान अपने यूज़र के फोन बुक और यूज़र से इनपुट लेकर करता है. यही वजह से कई लोग ट्रूकॉलर ऐप को निजता का उल्लंघन का आरोपी मानते हैं.

 वीडियो कॉलिंग

ट्रूकॉलर ऐप में यूज़र कॉन्टेक्ट सेक्शन में जाकर चुनिंदा कॉन्टेक्ट को वीडियो कॉल भी कर सकते हैं. ऐसा गूगल डुओ वीडियो कॉलिंग ऐप के ज़रिए संभव होता है. इस ऐप में मैसेज भेजने और वॉयस कॉल फीचर शुरुआत से रहा है, लेकिन वीडियो कॉलिंग फ़ीचर लाते वक्त इस ऐप का मकसद व्हाट्सऐप को चुनौती देने का था.

कॉल रिकॉर्डिंग 

Truecaller ने हाल ही में एंड्रॉयड यूज़र के लिए नई कॉल रिकॉर्डिंग की सुविधा दी थी. वैसे, यह फीचर ट्रूकॉलर प्रीमियम यूज़र के लिए है. अब जब ट्रूकॉलर प्रीमियम यूज़र कॉल डायल या रिसीव करते हैं, वे ट्रूकॉलर आईडी स्क्रीन पर रिकॉर्डिंग फीचर का टॉगल ऑन कर सकते हैं. रिकॉर्डिंग जाकर यूज़र के फोन में स्टोर हो जाता है. जिन यूज़र के पास प्रीमियम सब्सक्रिप्शन नहीं है, वे इस फीचर को 14 दिन के मुफ्त ट्रायल में भी ला सकते हैं.

कॉन्टेक्ट, कॉल हिस्ट्री का बैकअप

ट्रूकॉलर आपके सभी कॉन्टेक्ट, कॉल हिस्ट्री, कॉल लॉग, ब्लॉक लिस्ट को सिर्फ एक बटन पर क्लिक करने से ही बैकअप कर सकता है. आप इन फाइल को सेटिंग प्रीफरेंस में जाकर गूगल ड्राइव पर स्टोर कर पाएंगे. ज़रूरत पड़ने पर आप इन्हें बाद में रीस्टोर कर पाएंगे. ट्रूकॉलर बैकअप विकल्प से यूज़र को अपना स्मार्टफोन बदलने, नया सिम कार्ड पाने या हैंडसेट रीसेट करने व ऐप दोबारा इंस्टॉल करने के दौरान मदद मिलेगी.

ट्रूकॉलर पे में आप वर्चुअल पेमेंट एड्रेस बना सकते हैं. जिसका इस्तेमाल किसी भी यूपीआई आधारित ट्रांजेक्शन के लिए किया जा सकता है. अगर आपका बैंक यूपीआई को सपोर्ट करता है तो आप ट्रूकॉलर पे के ज़रिए पैसे भेज या रिसीव कर पाएंगे. मान लीजिए कि आप किसी मीटिंग में हैं, या फिर आपातकालीन स्थिति में फंसे हैं. फ्लैश मैसेजिंग की मदद से आप किसी भी ट्रूकॉलर यूज़र को पहले से लिखे मैसेज झट से भेज सकते हैं. इसके अलावा ट्रूकॉलर यूज़र उन्हें अपनी लोकेशन के अलावा इमोजी भी भेज सकते हैं.

ट्रूकॉलर का ही मैसेजिंग एप्लिकेशान ट्रूमैसेंजर है. यह आपको अनचाहे मैसेज से छूटकारा दिलाता है. फोन में ट्रूमैसेंजर का उपयोग आप बाईडिफाॅल्ट मैसेज के रूप में कर सकते हैं. इसमें आपके सभी मैसेज इनबाॅक्स में आ जाते हैं और आप यहां से फिल्टर कर सकते हैं कि कौन-कौन से मैसेज स्पैम हैं. इन बाॅक्स में सभी मैसेज होंगे जबकि स्पैम टैब पर आप क्लिक करेंगे तो वे सभी मैसेज दिखाई देंगें जिन्हें आपने स्पैम किया है. यहां ऊपर में एडवांस ब्लाॅक का विकल्प दिया गया है. जिसके माध्यम से आप किसी खास नंबर, किसी खास सीरीज और किसी नाम को ब्लाॅक कर सकते हैं।







UPPatrika


और न्यूज़ पढ़ें

0 Comments

Leave a comment

Your email address will not be published, all the fields are required.


Comments will be shown after approval .

अब तक की बड़ी खबरें